DOP Advisory regarding splitting of AEPS Transactions.

भारतीय डाक विभाग ने एण्ड यूजर्स के लिए इण्डिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक से धन निकासी के लिए नई एडवाइजरी जारी की है। जिसमें विभाग ने लिखा है कि कई यूजर्स द्वारा ट्रांजैक्शन ज्यादा दिखाने के लिए निकासी की राशि को टुकड़ों में बांटकर निकालने का कदाचार किया जा रहा है।
विभाग ने बताया कि 30 अप्रैल को राष्ट्रीय स्तर पर सबसे ज्यादा 150 ट्राजैक्शन करने वाला एण्ड यूजर जिसने मात्र 5 ग्राहकों के लिए 150 ट्रांजैक्शन किए, जिसके बारे में जांच की गई तो पाया गया कि एण्ड यूजर्स ने ग्राहक को जानबूझकर ट्रांजैक्शन की संख्या ज्यादा दिखाने के लिए ग्राहकों को टुकड़ों में भुगतान किया गया है।
इसमें आईपीपीबी ने बताया कि इसे एनपीसीआई ने गंभीरता से लिया है। साथ ही इससे विभाग का रेवेन्यू भी घटता है क्योंकि इससे एसएमएस फी, स्विचिंगफी, यूआईडीएआई आॅथेंटिकेशन फी आदि विभिन्न प्रकार की फीस का भुगतान करना पड़ता है। 
आईपीपीबी एवं विभाग ने टुकड़ों में ग्राहकों को भुगतान करने वाले एण्ड यूजर्स को जानकारी दी है कि वे आगे से ऐसे भुगतान नहीं करें अन्यथा विधिक कार्यवाही भी हो सकती है। क्योंकि यह आईपीपीबी के लिए रेगुलेटरी समस्या है।
You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!